नहुम

नहुम

 

अध्याय 1

भगवान की महिमा, उनकी भलाई और गंभीरता।

1 नीनवे का बोझ। एल्कोशी नहूम के दर्शन की पुस्तक।

2 परमेश्वर जलता है, और यहोवा बदला लेता है; यहोवा बदला लेता है, और क्रोधित होता है; यहोवा अपके द्रोहियोंसे पलटा लेगा, और अपके शत्रुओं पर क्रोध करता है।

3 यहोवा विलम्ब से कोप करनेवाला, और बड़ा सामर्थी है, और दुष्टोंको कुछ भी न छुड़ाएगा; यहोवा का मार्ग बवंडर और आँधी में है, और बादल उसके पांवों की धूल हैं।

4 वह समुद्र को ताड़ना देता है, और उसे सुखा देता है, और सब नदियों को सुखा देता है; बाशान, और कर्मेल, और लबानोन का फूल मुरझा गया।

5 उस पर पहाड़ कांपते हैं, और पहाड़ियां गल जाती हैं, और पृय्वी उसके साम्हने जल जाती है, वरन जगत वरन उस में के सब रहनेवाले भी जल जाते हैं।

6 उसके क्रोध के साम्हने कौन खड़ा हो सकता है? और उसके क्रोध की प्रचण्डता में कौन टिक सकता है? उसकी जलजलाहट आग की नाईं भड़क उठती है, और उसके द्वारा चट्टानें ढा दी जाती हैं।

7 यहोवा भला है, संकट के दिन दृढ़ गढ़ है; और जो उस पर भरोसा रखते हैं, उन्हें वह जानता है।

8 परन्तु वह सदा की बाढ़ से उसके स्थान का अन्त कर डालेगा, और उसके शत्रुओं के पीछे अन्धकार छा जाएगा।

9 तुम यहोवा के विरुद्ध क्या सोचते हो? वह पूरी तरह से समाप्त कर देगा; दु:ख दूसरी बार नहीं उठेगा।

10 क्योंकि जब तक वे कांटोंकी नाईं जोड़े जाएंगे, और जब तक वे पियक्कड़ोंकी नाईं पियेंगे, तब तक वे सूखे भूसे की नाईं भस्म हो जाएंगे।

11 तुझ में से एक है, जो यहोवा की बुराई करने की कल्पना करता है, जो दुष्ट युक्ति करनेवाला है।

12 यहोवा यों कहता है; चाहे वे चुप रहें, और वैसे ही बहुत से हों, तौभी जब वह वहां से निकलेगा, तब वे इसी रीति से नाश किए जाएंगे। यद्यपि मैं ने तुझे दु:ख दिया है, तौभी मैं तुझे फिर और दु:ख न दूंगा।

13 क्योंकि अब मैं तेरे ऊपर से उसका जूआ तोड़ दूंगा, और तेरे बन्धनोंको तोड़ डालूंगा।

14 और यहोवा ने तेरे विषय में यह आज्ञा दी है, कि तेरे नाम में और कोई बीज न बोया जाए; मैं तेरे देवताओं के भवन में से खुदी हुई मूरत और ढली हुई मूरत को काट डालूंगा; मैं तेरी कब्र बनाऊंगा; क्योंकि तू नीच है।

15 पहाड़ों पर उसके पांव देखो, जो शुभ समाचार देता है, जो मेल मिलाप का प्रचार करता है; हे यहूदा, अपके पर्वोंको मान, अपक्की मन्नतें पूरी कर; क्योंकि दुष्ट फिर कभी तेरे बीच में से होकर न जाएगा; वह पूरी तरह से कटा हुआ है।


अध्याय 2

नीनवे के विरुद्ध विजयी सेनाएँ।

1 जो टुकड़े टुकड़े करेगा, वह तेरे साम्हने चढ़ेगा; युद्ध सामग्री रखना, मार्ग की चौकसी करना, अपनी कमर मजबूत करना, अपनी शक्ति को शक्तिशाली बनाना।

2 क्योंकि यहोवा ने याकूब के प्रताप को इस्राएल के प्रताप के समान दूर किया है; क्‍योंकि उत्‍पन्‍न करनेवालों ने उन्‍हें खाली कर दिया है, और उनकी दाखलताओंको तोड़ डाला है।

3 उसके शूरवीरों की ढाल लाल रंग की हुई है, और शूरवीर लाल रंग के हैं; उसके तैयार होने के दिन रथ धधकती हुई मशालोंके साथ हों, और देवदारू के पेड़ बहुत हिलेंगे।

4 रथ सड़कों पर ललकारेंगे, वे चौराहोंमें आपस में एक दूसरे से वाद-विवाद करेंगे; वे मशालों के समान प्रगट होंगे, वे बिजली की नाईं दौड़ेंगे।

5 वह अपके गुण गिनाएगा; वे अपने चलने में ठोकर खाएंगे; वे उसकी शहरपनाह पर फुर्ती करेंगे, और बचाव के लिथे तैयार किया जाएगा।

6 नदियों के फाटक खोल दिए जाएंगे, और महल ढा दिया जाएगा।

7 और हुज्जाब बंधुआई में ले जाया जाएगा, और उसका पालन-पोषण किया जाएगा, और उसकी दासियां कबूतरोंके शब्द की नाईं उनकी छाती पर थपकी देते हुए उसकी अगुवाई करेंगी।

8 परन्तु नीनवे तो जल के कुण्ड के समान प्राचीन है; तौभी वे भाग जाएंगे। खड़े रहो, खड़े रहो, क्या वे रोएंगे; लेकिन कोई पीछे मुड़कर नहीं देखेगा।

9 चांदी की लूट ले लो, सोने की लूट ले लो; क्‍योंकि सब प्रकार के मनोहर वस्‍तुओं में से उनका भण्डार और महिमा का छोर कुछ भी नहीं है।

10 वह खाली, और शून्य, और उजाड़ है; और हृदय पिघल जाता है, और घुटने आपस में टकराते हैं, और सब की कमर में बहुत पीड़ा होती है, और उन सब के चेहरों पर कालापन आ जाता है।

11 सिंहों का निवास, और जवान सिंहों का चारागाह कहां है, जहां सिंह, वरन बूढ़ा सिंह, और सिंह की भेड़चाल चलती या, और किसी ने उनको न डराया?

12 सिंह ने अपक्की भेड़ियोंके लिथे टुकड़े टुकड़े किए, और सिंहनियोंका गला घोंट दिया, और अपके गड्ढोंको अहेर से, और उसकी मांदोंको नालोंसे भर दिया।

13 देख, सेनाओं के यहोवा की यह वाणी है, मैं तेरे विरुद्ध हूं, और मैं उसके रथोंको धूएं में फूंक दूंगा, और तेरे जवान सिंह तलवार से भस्म हो जाएंगे; और मैं तेरे अहेर को पृय्वी पर से नाश करूंगा, और तेरे दूतोंका शब्द फिर न सुना जाएगा।


अध्याय 3

नीनवे का दयनीय विनाश।

1 धिक्कार है उस खूनी नगर पर! यह सब झूठ और डकैती से भरा है; शिकार नहीं जाता;

2 कोड़े का शब्द, और पहियों के खड़खड़ाने का, और उछलते घोड़ों का, और उछलते हुए रथों का शब्द।

3 घुड़सवार तेज तलवार और चमकते भाले दोनों को उठाता है; और बहुत से लोग मारे गए, और बहुत सी लोथें हैं; और उनकी लोथों का कोई छोर नहीं; वे अपनी लाशों पर ठोकर खाते हैं;

4 सुहावनी वेश्‍या के व्यभिचार के कारण, जो जादू-टोने की मालकिन है, जो अपने व्यभिचार से जाति-जाति को, और कुलों को अपने जादू-टोने से बेचती है।

5 देख, मैं तेरे विरुद्ध हूं, सेनाओं के यहोवा की यही वाणी है; और मैं तेरे आंचल को तेरे मुंह पर पाऊंगा, और जाति जाति को तेरा नंगापन, और राज्य को तेरी लज्जा दिखाऊंगा।

6 और मैं तुझ पर घिनौनी गन्दगी डालूंगा, और तुझे निकम्मा ठहराऊंगा, और तुझे धरने का जल्लाद ठहराऊंगा।

7 और ऐसा होगा कि जितने तेरी ओर दृष्टि करें वे सब तेरे पास से भाग जाएं, और कहें, नीनवे उजड़ गया है, उस से कौन विलाप करेगा? मैं तेरे लिथे दिलासा देनेवाले कहां से ढूंढूं?

8 क्या तू बड़ी भीड़ से अच्छा है, नहीं, जो नदियों के बीच में रहता है, और जिसके चारोंओर जल है, जिसकी प्राचीर समुद्र है, और उसकी शहरपनाह समुद्र पर से है?

9 कूश और मिस्र उसके बल थे, और वह अपरिमित था; पुट और लुबिम तेरे सहायक थे।

10 तौभी वह बहक गई, और बन्धुआई में चली गई; उसके बच्चे भी सब सड़कों की चोटी पर चकनाचूर हो गए; और उन्होंने उसके रईसोंके लिथे चिट्ठी डाली, और उसके सब महापुरुष बेड़ियोंसे बन्धे हुए थे।

11 तुम भी मतवाले होओगे; तू छिप जाएगा, और शत्रु के कारण बल को ढूंढ़ेगा।

12 तेरी सब गढ़ियां पहिले पके हुए अंजीर के वृझों की नाईं होंगी; यदि वे हिलाए जाएं, तो खाने वाले के मुंह में गिरें।

13 सुन, तेरी प्रजा तेरे बीच में स्त्रियां हैं; तेरे देश के फाटक तेरे शत्रुओं के लिये खुले रहेंगे; आग तेरे बेंड़ों को भस्म करेगी।

14 घेराबंदी के लिथे जल खींच, अपक्की गढ़ोंको दृढ़ कर; मिट्टी में जाओ, और गारे को रौंदो, ईंट के भट्टे को मजबूत करो।

15 वही आग तुझे भस्म करेगी; तलवार तुझे नाश करेगी, वह कीड़ों की नाईं तुझे खा जाएगी; अपने आप को नासूर के समान बहुत बना लो, अपने आप को टिड्डियों के समान बहुत बना लो।

16 तू ने अपने व्यपारियों को आकाश के तारों से अधिक ऊंचा किया है; कैकरवर्म खराब हो जाता है, और भाग जाता है।

17 तेरे मुकुट टिड्डियों के तुल्य हैं, और तेरे प्रधान उन बड़े टिड्डियों के समान हैं, जो ठण्ड के दिन बाड़ों में डेरे खड़े करते हैं, परन्तु जब सूर्य उदय होता है तब वे भाग जाते हैं, और उनका स्थान पता नहीं चलता।

18 हे अश्शूर के राजा, तेरे चरवाहे सो जाते हैं; तेरे रईस मिट्टी में बसेंगे; तेरी प्रजा पहाड़ों पर तित्तर बित्तर हो गई है, और कोई उनको इकट्ठा नहीं करता।

19 तेरे घाव का कोई उपचार नहीं; तेरा घाव बड़ा भारी है; जितने तेरा दण्ड सुनेंगे, वे सब तेरे हाथ से ताली बजाएंगे; क्‍योंकि तेरी दुष्टता निरन्‍तर किस पर नहीं हुई?

शास्त्र पुस्तकालय:

खोज युक्ति

एक शब्द टाइप करें या पूरे वाक्यांश को खोजने के लिए उद्धरणों का उपयोग करें (उदाहरण के लिए "भगवान के लिए दुनिया को इतना प्यार करता था")।

The Remnant Church Headquarters in Historic District Independence, MO. Church Seal 1830 Joseph Smith - Church History - Zionic Endeavors - Center Place

अतिरिक्त संसाधनों के लिए, कृपया हमारे देखें सदस्य संसाधन पृष्ठ।